Monday, 2 September 2019

पैसा और ईमानदारी


पैसा और ईमानदारी

💥पैसा और ईमानदारी रेल की दो पटरियों के समान है। जो चलते तो हमेशा साथ है, पर कभी मिल नहीं पाते।💥
Just that parallel.


            आपके पास पैसा और ईमानदारी हो जरूरी नहीं है। परंतु कुछ लोग ऐसे भी होते है, जो ईमानदारी और मेहनत  से काम करके पैसा😀 भी कमा 🤑लेते हैं। और खुशनुमा जिंदगि बिता😌ते है। परंतु ये कम  जगह मे 🤑हि सम्भव हैं। क्योंकि जो ईमानदार होता हैं, उसके दुश्मन बहुत होतें है।
             आज के युग मे भ्रष्टाचार इतना बड़ चुका है , की लोग अपनी अच्छी कासी🤑 सरकारी नौकरी या private jobs मे भी गद्दारी कर बठते है। और रिश्वत खाते हैं💥। और खुद तो रहिस बन जाते है। और ईमानदारी से काम करने वाले जहाँ के 😀वहाँ रह जाते है। इसलिए कहाँ जाता हैं कि ईमानदारी के साथ रंगदा🤗री भी जरूरी है। परंतु कुछ लोग ऐसे भी होते हैं कि वह शुरुआत में बेईमानी करते हैं और फिर ईमान🤗दारी से काम करते हैं और ये सही भी है।
अब आप खुद के लिए एक😜 रास्ता चुने कि आपको ईमानदारी से काम करना है या बेईमा💥नी से काम करना है या बेईमा😘नी करके ईमानदारी से काम करना है।
      अगर आप धन संपत्ति से परिपूर्ण है तो धर्म के मार्ग पर जाइए यानी ईमानदारी 🤗🤗से काम करिए और यदि आपके पास कोई ध😒न साधन नहीं है तो एक जरि💥या है पहले थोड़ी बेईमानी करें और जब थोड़ा पैसा हो जाए तो फिर अपने पुराने मार्ग यनी , इमानदारी पर लौट जाए और धर्म से जुड़े धार्मिक प्रवृत्ति पर जाइए पूजा-पाठ करिए। भगवान भी आपसे खुश होकर आपको माफ कर 💥देगा और आप खुशनुमा जिंदगी जिएंगे ।
       अब आते हैं उन लोगों पर जो बड़े ही लालची होते हैं उनके पास कितना भी पैसा क्यों ना हो जाए, परंतु करते बेमानी ही🙂 हैं ।  हर जगह गद्दारी और हर जगह रिश्वत गिरी करते हैं। पर वह कभी खु😜श नहीं रहते वह तो दुखी रहते हैं परंतु उनका 😙🤗परिवार भी दुखी रहता है हमेशा परेशान रहते हैं दूसरों की बद्दुआ लगती है।
     अब कुछ लोग वह जो इमानदारी से काम करते हैं वह बहुत ही संभल के चलते हैं नियमि💥त खर्च करते हैं और खुश रहते 😝हैं। और ईमानदारी से काम करने वाले के दुश्मन बहुत होते हैं परंतु खुश रहते हैं शिक्षित रहते हैं और हमेशा दूसरों को अच्छे ही संस्का🤑र देते हैं ना की गद्दारी😛😗 करते हैं और ना की रिश्वत लेते हैं और किसी से डरते भी नहीं जो ईमानदार रहते ।
परंतु अपने नजरों में कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो बेईमानी से तो का😙म करते हैं परंतु खुश रहते हैं हमेशा अच्छा रहते हैं दूसरों की मदद भी कर😜ते हैं वह हमें सब बड़े लोगों का ही बुरा करते हैं जो रिश्वत लेते 19 और रिश्वत ले😗ते हैं और यह धार्मिक प्रवृत्ति से जुड़े रहते हैं धर्म के प्रति इनका ज्यादा ध्यान रहता है पूजा-पाठ करते हैं और हमेशा अच्छे अच्छे ही काम करते हैं ।
    कुल मिलाकर यह है कि अगर अपके के पास कोई धन संपत्ति का साधन नहीं है तो😛 पहले बेई💥मानी करिए और उसके बाद उसको ईमानदारी के रास्ते में जोड़कर ईमानदारी से काम करि😝ए। और धर्म के मार्ग पर चाहिए दूसरों की भलाई कीजिए ना कि बेईमानी कीजिए ना कि रिश्वत लीजिए आरके बस अब इतना तो संपत्ति हो गई है😝 क्या आप अपना और अप😗ने परिवार का पाल💥न पोषण कर सकते हैं तो आपको बेईमानी करने की कोई जरूरत नहीं है आप दूसरों की भलाई करने का सो🤑चा इसके अलावा कुछ नहीं ।
    
      🙂धन्यवाद दोस्तों अगर आपको अच्छा लगे तो शेयर जरुर करिए🙂। 
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

By celebration is here
     
       
       

1 comment: