Saturday, 21 December 2019

Top 99+weird new year shayri 2020। happy new year shayari in Hindi


Happy New year shayari in Hindi। नए साल की शायरियां हिंदी में।

Top 100 Happy New year shayari 2020 in Hindi

Happy New Year 2020 shayari
New year shayari

हमारी तरफ से आप सभी को न्यू ईयर की हार्दिक शुभकामनाएं और हमारी यह  आकांक्षा   रहेगी कि आप सभी आगे से आगे बढ़े हर मुकाम रचे और अपनी जिंदगी में सफलता प्राप्त करें।




1.सजी रहे खुशियाँ की महफिल आप रहे खुशहाल । सलामत रहे आपकी जिन्दगी मुबारक हो नया साल ॥

2. पायल की झंकार हो रस्ते रस्ते । नया साल मंगलमय हो हँसते - हँसते ॥

3.जनवरी जान से पारी फरवरी याद करती । नया साल मुबारक हो आपकी याद आती है ।


4.लिख रही थी आ गया भूचाल । कैलेन्डर में देखा आ गया नया साल ।

5.आया नया वर्ष खुशियाँ मनाइये । हर घड़ी मोड़ पर आप मुस्कुराइये ।

6.लगा नया साल याद आपकी आयी । हूँ आपसे छोटी , दे रही आपको बधाई ॥

7. साल आते रहे साल जाते रहे । आप यूँ ही सदा मुस्कुराते रहे ।



8.आज मुबारक कल मुबारक सागर जितना प्यार मुबारक । आपको बीता वर्ष मुबारक और आने वाला साल मुबारक । 

9.जलाते रहे नव वर्ष के दीपक जब तक यह संसार रहे भूमंडल पर फूल खिले तब तक साजन सजनी का प्यार रहे।

10.चांद को चांदनी मुबारक हो फूलों को खुशबू मुबारक हो हमारी ओर से आप सभी को नया वर्ष मुबारक हो।

11.सूरज निकलता है पूरब की ओर से नया साल मंगलमय हो हम सब की ओर से।



12.नव वर्ष की शुभ बेला पर क्यों भेजूं उपहार तुम्हें उपहार हमारा कुछ भी नहीं 100 बार प्यार हमारा तुम्हें।

13.इस वर्ष मुबारक देती हूं अगले वर्ष न जाने क्या हो? बस यही कामना करती हूं हर वर्ष तुम्हारा मंगलमय हो।

14.फूलों की मंजिल बहारों का डेरा मुबारक हो तुम्हें नए साल का सवेरा।

[15] गुल खिले गुलशन खिले और खिले गुलदस्ते । नववर्ष का पत्र लिखने से पहले आपको मेरा नमस्ते ॥



[16] बुलबुल की जिन्दगी है पेड़ों की डाल पर । नया वर्ष मुबारक हो इस ग्रीटिंग कार्ड पर ॥

[17]अंगूर की डाल लचाऊँ कैसे । नये साल की ग्रीटिंग भिजवाऊँ कैसे ॥

[18] नये वर्ष में नये वर्ष की कहानी । मुबारक हो तुमको ये जनवरी सुहानी ।

[19]पुराना साल गया जवाबों की तरह । नया साल आया गुलाबों की तरह ।

[20]वर्ष आते रहे वर्ष जाते रहे । आप मेरी तरह मुस्कुराते रहे

[21]न आँखों में नींद न दिल में करार । नया साल मुबारक हो तुम हो मेरा प्यार ॥

[22] चन्दा चमके सूरज चमके चमके चांद सितारे । नये वर्ष की शुभ बेला पर चमके भाग्य तुम्हारे ।




[23]मुबारक हो तुमको नया वर्ष सुहाना । गुजारिश है इस खुशी में हमें भूल न जाना ।

[24]नव वर्ष आपको बार - बार मेरा सत्कार । सदा सुन्दर सपनों का आपको नमस्कार ।

  [25]गुल खिले गुलशन खिले गुलजार बनके । नया वर्ष मुबारक हो गले का हार बनके ।



[26]कौन जाने कि नया साल में तू किस को पढ़े । तेरा स्टेण्डर्ड बदलता है सिलेबस की तरह ।

[27]पिछले साल भी जश्न हुआ था अबके साल भी जश्न हुए । एक ने दिल के जख्म लिए थे एक ने टाँके खोल दिए ।

[28]आज एक बरस  गया उसके बगैर । जिसको कभी नींद नहीं आती थी मेरे बगैर। 

[29]आओ निगाहें बन्द से बचाए तम्हें सदा । नववर्ष में प्यारी हम तुम से न हां जुदा ॥

[30]फूलों जैसा चेहरा तेरा कलियों सी मुस्कान । नये साल में तुझको देखा हो गया मैं कुर्बान ॥

[31] डिब्बे में डिब्बा डिब्बे में केक । नये साल में लेटर देना तू अनेक ॥

[32]इन फूलों की भाँति भरा हो खुशियों से भरा जीवन • नया साल खुशहाली लाये करे दुआ मेरा तन - मन। 

[33] नये साल की ग्रीटिंग तू खोलना हौले - हौले । । आजा तुमको फिल्म दिखाऊँ फिल्म लगी है शोले ॥



[34]मेरा प्रोटिंग जा रहा है इसे लेना हाथ में । पहले मेरी याद करना ग्रीटिंग पढ़ना बाद में ।

[35]नये वर्ष की बधाई अदा कीजिए । दिल किसी का न टूटे दुआं कीजिए ।

[36]किसी को फूल मुबारक किसी को हार मुबारक । मेरे प्रिय दोस्त तुम्हें नया साल मुबारक ॥

[37]सूरज चमके चन्दा चमके चमके चाँद सितारे । नये वर्ष के सभी दिनों में चमके भाग्य तुम्हारे ॥

[38]आँचल की कलियाँ सजा लेना जुल्फों में सितारे भर लेना जब नये साल की रात्रि ढले तब याद हमें तुम कर लेना


[39] बैठी थी मैं चेयर पर ख्याल आ गया । कैलेण्डर उठाकर देखा तो नया साल आ गया ।






  • Best Akbar Birbal stories


  • ' [40]इन फू जलाते भूमण्ड यह कार्ड खोलना जरा खूब संभाल के । इसमें रख दिया है कलेजा निकाल के ॥

    [41] नववर्ष आपकी जिन्दगी में ऐसा मुकाम लाये । खुशियाँ तुम्हारा चरण चूमे बहारों से सलाम आये ॥

    [42]खुदा करे ये नववर्ष तुमको रास आये । गम अनजाने में भी न कभी तेरे पास आये ।

    [43]नये वर्ष की नयी किरण नया तुम्हें उपहार मिले । रहें आप चाहे जितनी दूर आपको मेरा प्यार मिले ॥

    [44]चला जा ग्रीटिंग चमकते - चमकते । मेरी सहेली से कहना नमस्ते - नमस्ते ॥



    [45] सजी रही खुशियों की महफिल सदा रहे खुशहाला सलामत रहे आपकी जिन्दगी मबारक हो नया साल

    [46]थम - थम खुशियों का जाम । नया साल मुबारक हो हर सुबह शाम ॥
    100 top shayari in New Year
    Happy new year 2020

    [47] नया वर्ष आया मुबारक तुम्हें हो । मिले खुशियाँ राही न कोई सितम हो ।

      [48]नये वर्ष में शुभ अवसर पर ग्रीटिंग अर्पित करती हूँ । जीवन तेरा सुखमय बीते यही कामना करती हूँ ।

      [49]कार्ड न देना बेकदर को जो बड़ा मगरूर हो । कार्ड उसको भेजना लेना जिसे मन्जूर हो ॥

    [50]जुल्फें उठा के पढ़ना , तुमको मेरी कसम है । मुस्कराके पढ़ना , तुमको मेरी कसम है ॥

    [ 51]वन कप टी , टू कप वियर । ओ माई डियर हैप्पी न्यू ईयर । 



    [52] चलाती हो तलवार भगर धार वही है । बदलता है साल मगर प्यार वही है ॥

    [53]न सर झुका के पढ़ो न सर उठा के पढ़ो । सहेली का पत्र है इस को तो मस्करा के पढ़ो ॥

    [ 54]अंगूरों के रस से बनता है वियर । हैलो माई डियरं हैप्पी न्यू इयर ॥

    [55]सोने का घड़ा पानी से भरा । प्यारी तेरी याद में ग्रीटिंग देना पड़ा ।

    [56]दिल एक मंदिर है तुम उसकी मूरत हो । खुदा की कसम तुम कितनी खूबसूरत हो ॥

    [57]गोरे - गोरे मुखड़े पर काला - काला तिल । जहाँ मेरी सहेली जाये वहाँ मेरा दिल ॥



    [ 58]सोना दिया सोनार को पायल बना दिया । दिल दिया दिलवर को घायल बना दिया ।

    [59]पतंग उड़े आकाश में डोर हमारे पास । ग्रीटिंग कैसे दूँ मैं तुमको दिल तो मेरे पास ॥

    [60] लक्स जैसी खुशबू हमाम में नहीं । मेरी जैसी सहेली हिन्दोस्तान में नहीं ।

    [61]फूल तो बहुत हैं पर गलाब हमें पसन्द हैं । दोस्त तो बहुत हैं पर आप हमें पसन्द हैं ।

    [62]बहुत मुदत से मेरे दिल में एक तस्वीर बैठी है । उनकी दोस्ती तल्ले मेरी तकदीर बैठी है ।


     [63] नये वर्ष का नया तराना । इसको पढ़ना भूल न जाना ।

    Top shayari 2020 ,New Year ,Happy New Year
    Top shayri 2020

    [64]ये कागज नहीं एक प्यार भरा पन्ना तम्हें नया साल मुबारक हो यही मेरी तमन्ना है ।

    [ 65]रात को सोया तो तुम्हारा ख्याल आ गया । सबह उठ के देखा तो नया साल आ गया ।

    [66]फूलों की डाली , बहारों का झोका । नववर्ष में मिले , खुशियों का तोहफा ॥

    [ 67]हिन्दू मुस्लिम सिख ईसाई । नववर्ष मुबारक सभी को हो , भाई ॥

    [68]नववर्ष पावन पर्व पर क्या भेजूं उपहार । । सलामत रहे जिन्दगी बना रहे व्यवहार ।



    [69]दिन गये , हफ्ते गये और गये ये साल । आपको हमारी ओर से मुबारक हो नया साल ।

    [70] नये साल का नया दिन सा न कोई । दुनियाँ में अनेक हँसी हैं , पर तमसा न कोई ।

    [71]बैठे हो दूर मुझसे तुम जो खफा होके । । नये साल के दिन कुछ रहम खाना ॥



    [72]फुल आता है गुच्छों के साथ । नववर्ष मुबारक हो अच्छों के साथ ॥

    [73]हाथों से कुछ दे न सका दिल से दुआएँ देता हूँ । देने के काबिल कुछ भी नहीं नववर्ष की मुबारक देता हूँ ।

    [ 74]खुदा की महफिल में यही फरियाद करते हैं । नववर्ष मुबारक हो जिन्हें हम याद करते हैं ।

    [ 75]नया वर्ष तम्हें नई दिशा दे हर दिन नया तुम्हारा हो । चाँद सितारे सूरज जैसा उज्जवल भविष्य तुम्हारा हो

    [ 76]नये वर्ष की करो तैयारी , आ रही है जनवरी प्यारी । नया वर्ण डिस्को , पुराना वर्ष खिसको ।

    [77]ग्रीटिंग लिखने से पहले हम आपको सलाम करते हैं । नये साल का दिन , आपके नाम करते हैं ।

    [ 78]आँखें तरस गयी तुम्हारा ख्याल आ गया । अब तो चेहरा दिखा दो नया साल आ गया ।

    [80]उम्र तुम्हें इतनी दे जो कभी कम न हो । नया साल खुशियों में बीते जिसमें कोई गम न हो ॥

    [ 81]दिसम्बर गया जनवरी आई ।  नये वर्ष पर आपको है बधाई ।

    [82] सन्तरे के रस को जूस कहते हैं । ' ग्रीटिंग न देने वाले को कंजूस कहते हैं ।

    [83] उन्नति आपके चरणों में सदा सफलता चूमेगी । नववर्ष की नई कामना कभी न तुमको भूलेगी ।

    [84] नववर्ष की पावन बेला पर याद सभी की आई । कोटि - कोटि नम हृदय मेरा देता आज बधाई ॥

    [ 85]तकदीर का गम दुनियाँ का सितम , हर हाल में सहना पड़ता है । नववर्ष के आते ही तड़पते दिल को ग्रीटिंग लिखना पड़ता है ।

    [86] जनवरी जान से प्यारी फरवरी फरियाद करती है । मार्च मस्ती का महीना प्रिये तेरी याद आती है ।

    [ 87] ग्रीटिंग पढ़ने वाली जरा दिल लगा के पढ़ना । मैं तुमको याद करता हूँ तुम हमको याद करना ।

    [88]नये साल के नये इकरार तुम करोगे । बहाने चाहिए सनम तुम्हें मुकरने को ।

    [ 89]नये साल का पहला खत लिखता हूँ । खत पढ़ना है जरूर , यों ही फेंकना नहीं ।

    [90]जिसने तुम्हें दी चाँद सी सूरत वो मालिक धन्य है । नये साल में कदम दोस्ती का मौका भी मिल गया ।



    [91]नये साल का दिन पैगाम नया लाया । पढ़कर के मेरा दिल और मुस्कराया ॥

    [92]बिरह की अग्नि बुझ गई नया साल आते - आते । अश्कों को दरिया बह चला अफसाना गाते - गाते ॥

    [93] सलाम भेज रहे हैं उन्हें , जिन्हें हम  करते हैं । जुबाँ से कह नहीं सकते , पर दिल से इकरार करते हैं।

    [94] एक में नहीं , दो में नहीं , कहूंगा हजार में । जो मजा इश्क में नहीं , वो मजा इन्तजार में ॥

    [95]गोरी आँख का काजल बादल से तेज है । आशिक को करती घायल फूलों की सेज है


    [96]बना बना आशियाँ तुम पर निसार किया था । नये साल की सुबह पहला जाम पिया था ।

    [97]नये ख क्या आया नया साल तुम वही हो । मेरे हमदम , मेरे दोस्त बदत नहीं हो ॥

    [98]जिसने नये स रोज - रोज के वादों पर मर जायेंगे हम । नये साल भी यों ही गुजर जायेगा ।

    [ 99]जब तुम नहीं तो मजा क्या है जीने में । नये साल का दिन कहीं फिर न निकले पीने में ।

    [100]बिर अश्व नया साल मुबारक हो तुम्हारे लिए । तुम्हारी मुहब्बत हो हमारे लिए ॥

    [ 101]सल नये साल की मुबारक दिल से लेना । हो सके तो जवाब भी दिल से देना ॥

    [ 102]नये साल का नया पैगाम मेरा । ऐ दोस्तों बचके हसीनों से रहना ॥ 


    लोग यह भी पूछते हैं:-

    हम नया साल क्यों मनाते हैं?
    रोमन युग के दौरान, मार्च ने कैलेंडर की शुरुआत को चिह्नित किया।  फिर, 46 ई.पू. में, जूलियस सीजर ने जूलियन कैलेंडर बनाया, जिसने आज मनाया जाने वाला नया साल निर्धारित किया, लाइव साइंस ने पहले बताया।  ... विभिन्न धर्म भी अलग-अलग समय पर अपने नए साल का जश्न मनाते हैं। 



    हिंदू नववर्ष की तिथि क्या है?
    चंद्र कैलेंडर के अनुसार, मार्च / अप्रैल के दौरान भारत के विभिन्न हिस्सों में नया साल मनाया जाता है।  उगादी महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना के हिंदुओं के लिए नए साल का दिन है।  गुड़ी पड़वा को महाराष्ट्र, गोवा और कोंकण बेल्ट में नए साल के रूप में मनाया जाता है। 

    नए साल के दिन क्या होता है?
    नए साल का दिन 1 जनवरी को पड़ता है और ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार नए साल की शुरुआत होती है।  यह संयुक्त राज्य अमेरिका में नए साल की पूर्व संध्या समारोह के अंत को चिह्नित करता है और कई अमेरिकियों को पिछले वर्ष को याद करने का मौका देता है।



    नए साल का पहला जनवरी क्यों है?
    जूलियस सीज़र ने जनवरी, जानूस के नाम के महीने के लिए, एक नए साल के लिए प्रवेश द्वार होना उचित समझा, और जब उसने जूलियन कैलेंडर बनाया, तो उसने 1 जनवरी को साल का पहला दिन बनाया (इसने कैलेंडर वर्ष भी डाल दिया।  कंसुलर वर्ष के साथ लाइन, क्योंकि नए कंसल्स ने उस दिन भी कार्यालय ले लिया)।



    No comments:

    Post a Comment